Sunday, January 17, 2021
Home Blog

वे 10 स्वतंत्रता संग्राम सेनानी, जिनका योगदान किताबों में दर्ज नहीं है

0
10 freedom fighters whose contribution is not recorded in the books
10 freedom fighters whose contribution is not recorded in the books

10 freedom fighters whose contribution is not recorded in the books

मेरे इस ब्लॉग में आप सभी का बहुत बहुत स्वागत है,
इस ब्लॉग का नाम है top10th.in
इस ब्लॉग के माध्यम से मै आप सभी को दुनियाँ भर की अनसुनी और अद्भुत बातें को बताने वाला हूँ और मेरा हरेक आर्टिकल रैंकिंग रिलेटेड टॉपिक को कवर करेगा जिससे आप सभी का सामान्य ज्ञान के साथ साथ वर्तमान ज्ञान भी मजबूत होगा ।।
आशा करता हूँ की हमारा मेहनत आपको जरूर पसंद आएगा ।।

हमारे ख्यातनाम स्वतंत्रता सेनानियों के अलावा ऐसे बहुत से स्वतंत्रता संग्राम सेनानी रहे हैं जिनके नाम इतिहास की किताबों के पन्नों से गायब हैं। या लोग इन लोगों के बारे में बहुत कम जानते हैं, नीचे ऐसे ही कुछ गुमनाम स्वतंत्रता संग्राम के सेनानियों और शहीदों के बारे में जानकारी दी जा रही है। यह भी हमारे नायक हैं लेकिन ये गुमनामी के अंधेरे में रहे हैं, हालांकि जहां तक त्याग और तपस्या की बात है तो इन्होंने सुप्रसिद्ध लोगों से कम बलिदान नहीं दिए हैं।

उन्होंने कभी इस बात की चिंता नहीं की कि वे प्रसिद्ध हुए या गुमनाम बने रहे क्योंकि उन सभी का उद्देश्य देश को आजादी दिलाना था। इस देश के नागरिक होने के कारण हमारा यह कर्तव्य हो जाता है कि हम उन स्वतंत्रता सेनानियों के बारे में भी जानें जोकि गुमनामी में रहते हुए देश सेवा का अपना काम करते रहे।

10. मातंगिनी हाजरा :- 

एक ऐसी स्वतंत्रता संग्राम सेनानी थी जिन्होंने भारत छोड़ो आंदोलन और असहयोग आंदोलन के दौरान भाग लिया था। एक जुलूस के दौरान वे भारतीय झंडे को लेकर आगे बढ़ रही थीं और पुलिसकर्मियों ने उनपर गोली चला दी। उनके शरीर में तीन गोलियां लगीं फिर भी उन्होंने झंडा नहीं छोड़ा और वे ‘वंदे मातरम्’ ने नारे लगाती रहीं।

मातंगिनी हाजरा: जिन्होंने गोलियों से छलनी होने के बाद भी तिरंगे को न तो  झुकने दिया और न ही गिरने! |Matangini Hazra The Freedom Fighter of India
मातंगिनी हाजरा

9. बेगम हजरत महल :-

अवध के नवाब की पत्नी बेगम हजरत महल 1857 के विद्रोह की सक्रिय नेता थीं। जब उनके पति को देश से बाहर निकाल दिया तो उन्होंने अवध का शासन संभाल लिया और विद्रोह के दौरान उन्होंने लखनऊ को अंग्रेजी नियंत्रण से छीन भी लिया था। लेकिन विद्रोह के कुचले जाने के बाद बेगम हजरत महल को भारत छोड़कर नेपाल में रहना पड़ा, जहां उनका देहांत हुआ था।

Special Report: नेपाल के काठमांडू में उपेक्षित है बेगम हज़रत महल की मजार
बेगम हजरत महल

8. सेनापति बापट :- 

सत्याग्रह के एक नेता होने के कारण उन्हें सेनापति कहा जाता था। स्वतंत्रता के बाद पहली बार उन्हें पुणे में भारतीय ध्वज को फहराने का सम्मान मिला था। तोड़फोड़ और सरकार के खिलाफ भाषण करने के कारण उन्होंने खुद की गिरफ्तारी दी थी। वे एक सत्याग्रही थे जोकि हिंसा का मार्ग नहीं चुन सकता था।

The Non-Violent General:Senapati Bapat
सेनापति बापट

7. अरुणा आसफ अली :-
बहुत ही कम लोगों ने उनके बारे में यह सुना होगा कि जब वे 33 वर्ष की थीं तब उन्होंने सन् 1942 में भारत छोड़ो आंदोलन के दौरान गोवालिया टैंक मैदान में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का ध्वज फहराया था।

अरुणा आसफ़ अली की जीवनी – बचपन, जीवन परिचय, निबंध, Aruna Asaf Ali Biography  in Hindi
अरुणा आसफ अली

6. पोटी श्रीरामुलू :- 

वे महात्मा गांधी के कट्‍टर समर्थक और भक्त थे। जब गांधीजी के देश और मानवीय उद्देश्यों के प्रति उनकी निष्ठा देखी तो कहा था कि अगर मेरे पास श्रीरामुलू जैसे 11 और समर्थक आ जाएं तो मैं एक वर्ष में स्वतंत्रता हासिल कर लूंगा।

पोट्टि श्रीरामुलु. जैसा कि हम सभी जानते ही हैं कि भारत का… | by Shubham  Dixit | IndiaMag | Medium
पोटी श्रीरामुलू

5. भीकाजी कामा :- 

देश के कई शहरों में उनके नाम पर बहुत सारी सड़कें और भवन हैं लेकिन बहुत कम लोगों को पता होगा कि वे कौन थीं और उन्होंने क्या काम किया? कामा ने न केवल भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में अपना योगदान किया वरन वे भारत जैसे देश में लैंगिक समानता की पक्षधर एक नेता थीं। उन्होंने अपनी सम्पत्ति का एक बड़ा भाग लड़कियों के लिए अनाथालय बनाने पर खर्च किया था। वर्ष 1907 में उन्होंने इंटरनेशनल सोशलिस्ट कॉन्फ्रेंस, स्टुटगार्ट (जर्मनी) में भारत का झंडा फहराया था।

स्वतंत्रता दिवस: देश की आजादी में इन महिला स्वतंत्रता सेनानियों का भी था  अहम योगदान, जानें 15 वीरांगनाओं के नाम
भीकाजी कामा

4. तारा रानी श्रीवास्तव :- 

बिहार के सीवान नगर के पुलिस थाने पर उन्होंने अपने पति के साथ एक जुलूस का नेतृत्व किया था। उन्हें गोली मार दी गई थी लेकिन वे अपने घावों पर पट्‍टी बांधकर आगे चलती रहीं। जब वे लौंटी तो उनकी मौत हो गई थी। लेकिन मरने से पहले वे देश के झंडे को लगातार पकड़े रहीं।

कहानी तारा रानी श्रीवास्तव की, ब्रिटिश लाठीचार्ज में पति को खोकर भी फहराया  तिरंगा!
तारा रानी श्रीवास्तव

3. कन्हैयालाल माणिकलाल मुंशी :- 

उन्हें कुलपति के नाम से भी जाना जाता था क्योंकि उन्होंने भारतीय विद्या भवन की स्थापना की थी। वे भारत के स्वतंत्रता आंदोलन और विशेष रूप से भारत छोड़ो आंदोलन के दौरान बहुत सक्रिय रहे थे। स्वतंत्र भारत के प्रति उनके प्रेम और त्याग के कारण वे अनेक बार जेल गए।

Person, Such was the journalist and the writer, the political life of Kanhaiyalal  Maniklal Munshi - शख्सियत: ऐसा था पत्रकार व साहित्यकार से लेकर कन्हैयालाल  माणिकलाल मुंशी का राजनीतिक ...
कन्हैयालाल माणिकलाल मुंशी

2. पीर अली खान :-
कमलादेवी देश की ऐसी पहली महिला थीं जिन्होंने विधानसभा का चुनाव लड़ा था। साथ ही, वे पहली ऐसी महिला थीं जिन्हें अंग्रेज शासन ने गिरफ्तार किया था। उन्होंने एक सामाजिक सुधारक के तौर पर बड़ी भूमिका निभाई और उन्होंने भारतीय महिलाओं के सामाजिक-आर्थिक उत्थान के लिए हस्तशिल्प, थिएटर और हैंडलू्म्स (हथकरघे) को बहुत बढ़ावा दिया।

1857 के विद्रोह में मुसलमानों को संगठित करने वाले एक स्वतंत्रता सेनानी पीर  अली
पीर अली खान

1. कमलादेवी चट्‍टोपाध्याय :-
वे भारत के शुरुआती विद्रोहियों में से एक थे और उन्होंने 1857 के स्वतंत्रता आंदोलन में हिस्सा लिया था। स्वतंत्रता आंदोलन में सक्रिय भूमिका निभाने के कारण उन्हें 14 अन्य लोगों के साथ फांसी की सजा दी गई थी।

कमलादेवी चट्टोपाध्याय : भारत की वो स्वतंत्रता सेनानी जिसे इतिहास ने भुला  दिया
कमलादेवी चट्‍टोपाध्याय

तो ये थे हमारे देश के दस शूरवीर जिन्होंने हिंदुस्तान को ब्रिटिश से आजादी में अपना जान गवा दिया, ऐसे शूरवीर के कारन ही आज के दिन चैन से इस देश में जी रहे हैं, ऐसे महान योद्धा को मै आजीवन पूजता रहूंगा।।

जय हिन्द जय भारत
हिंदुस्तान जिंदाबाद
योद्धा अमर रहे

Young Man Beaten And Threat After Raise Vande Matram Slogan In School -  यूपी के स्कूल में भारत माता की जय और वंदे मातरम बोलने पर हंगामा व मारपीट,  दी गई धमकी ! |
Jai hind

आपलोग यदि और ज्यादा जानना चाहते हैं हमारे और हमारे ब्लॉग के बारे में तो हमे Social Media हैंडल्स पे फॉलो करना बिलकुल न भूलें, सारा लिंक दिया हुवा है Facebook Page , Instagram , Twitter .

धन्यवाद
भारत माता जी जय

The Famous Top 10 Cricketers of India Who Are Ruling The Hearts Of People

0
The Famous 10 Cricketers of India Who Are Ruling The Hearts Of People
The Famous 10 Cricketers of India Who Are Ruling The Hearts Of People

भारत के दस महान क्रिकेटर जिन्होंने इतिहास बदल दिया

मेरे इस ब्लॉग में आप सभी का बहुत बहुत स्वागत है,
इस ब्लॉग का नाम है top10th.in
इस ब्लॉग के माध्यम से मै आप सभी को दुनियाँ भर की अनसुनी और अद्भुत बातें को बताने वाला हूँ और मेरा हरेक आर्टिकल रैंकिंग रिलेटेड टॉपिक को कवर करेगा जिससे आप सभी का सामान्य ज्ञान के साथ साथ वर्तमान ज्ञान भी मजबूत होगा ।।
आशा करता हूँ की हमारा मेहनत आपको जरूर पसंद आएगा ।।

क्रिकेट राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई देशों द्वारा पर खेला जाने वाला एक पेशेवर स्तर का आउटडोर खेल है। इस बाहर खेले जाने वाले खेल में 11 खिलाड़ियों की दो टीमें होती है। क्रिकेट तब तक खेला जाता है जब तक 50 ओवर पूरे न हो जाए। हालाँकि 18वीं शताब्दी के दौरान इसका विकास इंग्लैंड के राष्ट्रीय खेल के रुप में हुआ।

वैसे तो हरेक खेल का अपना अपना अलग अलग महत्व है लेकिन मैं क्रिकेट का दीवाना हूँ, जब मेरा पढ़ाई चल रहा था उस वक्त तो प्रति दिन संध्या बेला में खेलने जाता था अपने गावँ के स्कूल के मैदान में,उस दिन को जब भी याद करता हूँ तो गावँ का याद तजा हो जाता है, अब तो सिर्फ क्रिकेट T.V. में देख के संतुष्ट होना पड़ता है लेकिन आज भी जब कभी बल्ला पकड़ता हूँ तो विरोधी टीम धो देता हूँ ।।
आज मै ऐसे ही भारत के धुरंदर क्रिकेटर के बारे में बताने वाला हूँ तो आइये जानते हैं उनके बारे में ।।

10. जहीर खान

ज़हीर खान (मराठी: ज़हीर खान) (जन्म: ७ अक्तुबर १९७८ श्रीरामपुर, महाराष्ट्र में) एक भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी हैं। वे मुख्यतः उनकी गेंदबाज़ी के लिए जाने जाते हैं। दाएँ हाथ से बल्लेबाज़ी और बाएँ हाथ से मध्यम तेज़ गति की गेंदबाज़ी करते हैं।

जहीर खान का जन्म एक मध्यम वर्गीय परिवार से थे। उनके पिता फोटोग्राफर और मां टीचर थीं। अपनी शुरुआती पढ़ाई हिंद सेवा मंडल न्यू मराठी प्राइमरी स्कूल और उसके बाद केजे सोमैया सेकेंड्री स्कूल से की थी। जहां जहीर खान ने नेशनल क्रिकेट क्लब के शुरुआती 2 सत्रों के हर मुकाबलों में भाग लिया ।।

Birthday Special 10 Interesting Facts About Zaheer Khan - बर्थ डे स्पेशल:  जहीर के बारे में 10 रोचक जानकारियां | Patrika News
जहीर खान

9. अनिल कुंबले

अनिल कुंबले ने 132 टेस्ट मैच की 236 पारियों में 619 विकेट लेकर टीम इंडिया के सबसे सफल गेंदबाज बने हुए हैं। 271 एकदिवसीय मैच की 265 पारियों में 337 विकेट लेने का गौरव भी उनके नाम है। अनिल कुंबले नवंबर 2007 से भारतीय क्रिकेट टीम के १ वर्ष तक कप्तान भी रहे।

अनिल कुंबले : प्रोफाइल
अनिल कुंबले

कुंबले एक टीम मैन थे, जो टीम के लिए हर परिस्थिती में खेलने के लिए तैयार रहते थे और टीम की जीत में योगदान देते रहते थे। कुंबले उन तीन स्पिन गेंदबाजों में से एक हैं, जिन्होने टेस्ट क्रिकेट में 600 से ज्यादा विकेट अपने नाम किए है। कुंबले ने अपने करियर में खेले 132 टेस्ट मैचों की 236 पारियों में कुल 619 विकेट अपने नाम किए।

8. हरभजन सिंह

हरभजन सिंह प्लाहा (जन्म: ०३ जुलाई १९८०, जालन्धर, पंजाब) भारत के अन्तरराष्ट्रीय क्रिकेट खिलाडी हैं। वे इंडियन प्रिमियर लीग के चेन्नई सुपर किंग्स तथा पंजाब राज्य क्रिकेट टीम (2012-13) के भूतपूर्व कप्तान भी हैं। वे स्पिन गेंदबाजी में निपुण हैं और टेस्ट मैचों में ऑफ-स्पिनर द्वारा सर्वाधिक विकेट लेने वाले दूसरे स्पिनर हैं।

Harbhajan Singh Tweet On Independence Day - टर्बनेटर हरभजन सिंह ने ट्वीट कर  दिखावे की देशभक्ति पर कसा तंज | Patrika News
हरभजन सिंह


हरभजन टेस्ट में 417 और वनडे में 239 विकेट ले चुके हैं। हरभजन सिंह ने अपनी गेंदबाजी के बारे में बात करते हुए सबसे पहले ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज रिकी पोंटिंग का नाम लिया। उन्होंने 2001 में ऑस्ट्रेलिया के भारत दौरे के वक्त विश्व के महान बल्लेबाज रिकी पोंटिंग को 5 बार आउट किया था।

7. राहुल द्रविड़

राहुल द्रविड़ पहले कप्तान हैं जिनके नेतृत्व में भारत ने दक्षिण अफ्रीका को दक्षिण अफ्रीका की धरती पर टेस्ट मैच में हरा दिया। वे भारत से तीसरे कप्तान थे जिन्होंने इंग्लेंड में टेस्ट श्रृंखला जीती। यह उपलब्धि 21 साल के बाद हासिल हुई।

राहुल द्रविड़ : भारत की सबसे मजबूत दीवार के बारे में सबकुछ जानें - 100MB
राहुल द्रविड़

राहुल द्रविड़ विश्व कप 1999 में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज थे। द्रविड़ ने टेस्ट क्रिकेट में कुल 31258 गेंदों का सामना किया। द्रविड़ ने अपने 164 टेस्ट मैचों में 163 टेस्ट मैच भारत के लिए खेले हैं, एक टेस्ट मैच उन्होने आईसीसी विश्व इलेवन के लिए खेला था जिसमें द्रविड़ ने 0 और 23 का स्कोर बनाया था।

6. रवि शास्त्री

रविशंकर जयदृथ शास्त्री (जन्म ; २७ मई १९६२,मुंबई, महाराष्ट्र, भारत) एक भारतीय पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी खेल कमेंटेटर और वर्तमान भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच है। इन्होंने अपने क्रिकेट कैरियर में धीमी गति के गेंदबाज और बल्लेबाज की भूमिका निभाई है।

रवि शास्त्री ने अपने सबसे बड़े आलोचक को कहा- Happy Birthday... | Ravi  Shastri wishes- Happy 80th Mom, you are my biggest critic and inspiration |  Hindi News, क्रिकेट
रवि शास्त्री

उन्होंने करियर की शुरुआत 10वें नंबर के बल्लेबाज के तौर पर की थी और जल्द ही वह ओपनर बन गए। उन्होंने क्रिकेटर के तौर पर भारत को तमाम सीरीजें जितवाईं।

5. कपिल देव्

कपिल देव् मलाल निखंज (जन्म ६ जन्वरी १९५९) भारत के पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी हैं। भारत के सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट खिलाड़ियों में उनकी गणना होती है। वे भारतीय क्रिकेट के कप्तान के पद पर रह चुके हैं। १९८३ के क्रिकेट विश्वकप में वे भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान थे और उनके नेतृत्व में टीम ने विश्वकप जीतने का गौरव प्राप्त किया।

Kapil Dev Make Biggest Record In Kanpur Test Match None Could Not Break It-  Inext Live
कपिल देव्

पूर्व क्रिकेटर और भारतीय कप्तान कपिल देव् अपनी सेहत को लेकर कई दिनों से चर्चा में बने हुए हैं. दरअसल भारत को पहला विश्व कप जिताने वाले कप्तान कपिल देव् की बीते 23 अक्टूबर को सफल इमरजेंसी कोरोनरी-एंजियोप्लास्टी हुई थी. दो दिन बाद 25 अक्टूबर को उन्हें अस्पताल से छुट्टी मिल गई थी।।

4. सौरव गांगुली

सौरव गांगुली का पूरा नाम सौरव चंडीदास गांगुली है. इनका जन्म 8 जुलाई 1972 को कोलकाता के एक संभ्रांत बंगाली परिवार में हुआ था. सौरव के पिता चंडीदास गांगुली की गिनती कोलकाता के रईस लोगों में होती थी. फिर उनका रुतबा और जीवनशैली ऐसा थी कि लोग उन्हें ‘महाराजा’ के नाम से पुकारते थे.

सौरव गांगुली का फिर से बंगाल क्रिकेट संघ का अध्यक्ष बनना तय, मगर...
सौरव गांगुली

भारतीय क्रिकेट टीम के इतिहास में सबसे कामयाब कप्तानों में से एक रहे सौरव गांगुली की शानदार बल्लेबाजी के क्या कहने. दादा के नाम से मशहूर गांगुली की कप्तानी में टीम इंडिया को बहुत सी जीत मिलीं.

3. विराट कोहली

विराट कोहली (जन्म: ०५ नवम्बर १९८८) भारतीय क्रिकेट टीम के वर्तमान में तीनों प्रारूपों के कप्तान हैं।कोहली ने मलेशिया में २००८ अंडर – १९ विश्व कप में भारत को अपनी कप्तानी में जीत दिलाई और कुछ महीने बाद, १९ साल की उम्र में श्रीलंका के खिलाफ भारत के लिए अपने वनडे क्रिकेट में पदार्पण किया।

Cricket: Virat Kohli Wanted To Be Like Sachin In Childhood Age - मुश्किल  परिस्थितियों में टीम को मैच जीताने का रहता है प्रयास- विराट कोहली | Patrika  News
विराट कोहली

भारतीय क्रिकेट टीम के वर्तमान में तीनों प्रारूपों के कप्तान हैं। उन्होंने २०११ में टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया और २०१३ तक ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका में टेस्ट शतक के साथ उन्होंने “ओडीआई स्पेशलिस्ट” का टैग पाया।।

2. रोहित शर्मा

रोहित गुरूनाथ शर्मा (जन्म: ३० अप्रैल १९८७) एक अंतरराष्ट्रीय स्तर के भारतीय क्रिकेट टीम के खिलाड़ी है। इनका जन्म नागपुर, महाराष्ट्र में हुआ था। रोहित शर्मा क्रिकेट इतिहास में पहले ऐसे बल्लेबाज है जिन्होंने वनडे क्रिकेट में तीन दोहरे शतक, ट्वेन्टी-२० अंतरराष्ट्रीय में तीन शतक है।

rohit sharma record: रोहित शर्मा की दमदार फॉर्म लगातार 8वें साल जारी, 2020  में भारत के लिए सर्वोच्च स्कोर बनाने वाले बल्लेबाज - rohit sharma scored  highest odi score for ...
रोहित शर्मा

30 अप्रैल, 1987 में महाराष्ट्र के नागपुर में गुरुनाथ शर्मा के घर जन्म लेने वाले रोहित शर्मा का बचपन संघर्ष से भरी दास्तां है। पिता एक निजी फर्म में केयर टेकर और मां पूर्णिमा हाउसवाइफ थीं। रोहित जब डेढ़ साल के थे तब पिता परिवार के साथ डोंबिवली में एक कमरे के घर में शिफ्ट हो गए। रोहित के छोटे भाई का नाम विशाल शर्मा है।

1 . सचिन तेंदुलकर


क्रिकेट के भगवान मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर, 24 अप्रैल, 1973 को सचिन तेंदुलकर का जन्म मुंबई के एक राजापुर सारस्वत ब्राह्मण परिवार में हुआ था. सचिन  के पिता रमेश तेंदुलकर मराठी भाषा के एक प्रतिष्ठित उपन्यासकार और संगीतकार सचिन देव बर्मन के बहुत बड़े प्रशंसक थे, इसीलिए उन्होंने सचिन को उनका नाम दिया था.

Sachin Tendulkar Record As Captain Of Indian Cricket Team - कप्तान सचिन  तेंदुलकर ने जो किया, वो दोबारा नहीं कर पाए - Amar Ujala Hindi News Live
सचिन तेंदुलकर

तेंदुलकर १६० टेस्ट मैचों में भी अब तक १५००० रन बना चुके हैं। और इस तरह उनके नाम पर अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट में ३०,००० से ज्यादा रन और १०० शतक दर्ज़ हैं। उन्होंने विश्व चैंपियन टीम के खिलाफ ६० मैच में ३,००० से ज्यादा रन ठोंके जिसमें ९ शतक और १५ अर्धशतक शामिल हैं। सचिन ने २००३ के वर्ल्ड कप में रिकॉर्ड ६७३ रन बनाए थे।

तो ये हैं हमारे देश के १० सबसे बुलंद खिलाडी जिन्होंने क्रिकेट खेल में इतिहास बदल दिया और हमारे देश का नाम शिखर तक ले गया, मै दीपक कुमार मिश्रा, अंतर्राष्ट्रीय खेल खेलने बाले सभी खिलाडियों को प्रणाम करता हूँ और आशा करता हूँ की वो ऐसे ही हमारे देश का नाम रौशन करते रहे।।
आशा करता हूँ की आपको हमारा ये पोस्ट पढ़ के अच्छा लगेगा।

Har Har Mahadev | Lord shiva pics, Shiva photos, Lord shiva hd images
Mahadev

आपलोग यदि और ज्यादा जानना चाहते हैं हमारे और हमारे ब्लॉग के बारे में तो हमे Social Media हैंडल्स पे फॉलो करना बिलकुल न भूलें, सारा लिंक दिया हुवा है Facebook Page , Instagram , Twitter .

धयवाद
हर हर महादेव

Top 10 Best Indian Singers all time in Bollywood

0
guitarist, guitar, play

भारत के 10 सबसे लोकप्रिय संगीत कलाकार (Top 10 Best Indian Singers all time in Bollywood )

मेरे इस ब्लॉग में आप सभी का बहुत बहुत स्वागत है,
इस ब्लॉग का नाम है top10th.in
इस ब्लॉग के माध्यम से मै आप सभी को दुनियाँ भर की अनसुनी और अद्भुत बातें को बताने वाला हूँ और मेरा हरेक आर्टिकल रैंकिंग रिलेटेड टॉपिक को कवर करेगा जिससे आप सभी का सामान्य ज्ञान के साथ साथ वर्तमान ज्ञान भी मजबूत होगा ।।
आशा करता हूँ की हमारा मेहनत आपको जरूर पसंद आएगा ।।

संगीत एक कला ही नहीं बल्कि एक साधना भी है। इसमें सफलता के शिखर पर वही पहुंच सकता है जिसे संगीत से प्रेम हो और जो संगीत की पूजा करना जानता हो। भारत में प्रतिभाशाली संगीतकार की कोई कमी नहीं है। जिनकी रचनाएँ, कविता और आवाज सुनकर दर्शक आज भी मंत्रमुग्ध हो जाते है। आज की तारीख में वे लोग बॉलीवुड में एक खास जगह बना चुके है। भारत में बसे इन संगीतकारो को अपनी मंजिल तक पहुंचने पर कोई नहीं रोक पाया।

आज भारत में न जाने कितने करोड़ लोग होगें जो लता मंगेशकर, आर डी बर्मन, इलैयाराजा, सोनू निगम और सुनीधि चौहान की आवाज पर आज भी मर मिटने को तैयार हैं। आज हम इन्‍हीं लोकप्रिय संगीत कलाकारों के बारे में बात करेगें, जिन्‍होंने फिल्‍म इंडस्‍ट्री में अपनी मीठी छाप छोड़ी है। आयइे इनके बारे में जानते हैं;

10. इलैयाराजा

इलैयाराजा तमिल संगीत उद्योग में श्रद्धेय नामों में से एक है। इन्होने एक संगीतकार, गायक और गीतकार के नाम से लोकप्रीयेता हासिल की है।पिछले तीन दशकों में, इलैयाराजा लगभग एक हजार फिल्मों के लिए धुनें बना चुके है, 4500 गीत रिकॉर्ड कर चुके है। इलैयाराजा वेस्टर्न और इंडियन फ्यूज़न के लिए भी जाने जाते है।

मशहूर संगीतकार इलैयाराजा पद्म विभूषण से सम्मानित, राष्ट्रपति ने दिया अवॉर्ड  | music composer ilayaraja honoured with Padma Vibhushan by President Kovind
इलैयाराजा

9. साहिर लुधियानवी

इनका आसली नाम अब्दुल हयी था, ये 1921 में लुधियाना में पाएदा हुए थे। एसडी बर्मन, गुरु दत्त और साहिर लुधियानवी की इस जोड़ी ने कुछ सार्थक कवितायेँ हमारी हिंदी फिल्मों को दी है। इन्हें पद्मश्री पुरस्कार से भी समानित किया जा चूका है।

know link between Sahir Ludhianvi and International Womens Day Jagran  Special
साहिर लुधियानवी

8. ए आर रहमान

फिल्म संगीत की दुनिया में रहमान किसी पहचान के मोहताज नहीं। वे दक्षिण भारतीय हैं और तमिल, तेलुगु, मलयालम और कन्नड़ की फिल्मों में संगीत देते हैं। इन्होने पिछले एक दशक में भारत और भारत से बाहर भी खूब नाम कमाया है। इस दौरान उन्होंने दुनिया का दौर किया, और वैश्विक संगीत परिदृश्य में सबसे बड़े नामों में से कुछ के लिए संगीत बनाया। रहमान को दो अकादमी, एक ग्रैमी पुरस्कार और चार बार संगीत के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार मिल चुके है। टाइम्स मगज़ीन ने इन्हें 2009 में दुनिया के सबसे प्रभावशाली व्यक्तियों के रूप में ‘मद्रास के मोजार्ट’ के नाम से नवाज़ा था।

इस चमत्कार ने बनाया ए आर रहमान को हिंदू से मुस्लिम, जानिए ये दिलचस्प किस्सा  -  unknown-facts-behind-religion-conversion-of-singer-and-music-composer-a-r-rehman
ए आर रहमान

7. लक्ष्मीकांत प्यारेलाल

एक प्यार का नग्मा है ये गाना तो सुना ही होगा आपने जी हाँ सही पहचाना आपने लक्ष्मीकांत प्यारेलाल जोड़ी जो हिंदी फिल्मों में भारतीय शास्त्रीय संगीत, वेस्टर्न बीट्स, डिस्को नंबर के लिए जाने जाते है।

Unknown Facts About Laxmikant Shantaram Kudalkar's Life
लक्ष्मीकांत प्यारेलाल

6. लकी अली

लक अली अपनी सोलो एल्बम के लिए जाने जाते है। उनकी कुर्दुरी आवाज़ और शांत गीत ने पीड़ी को बहुत पसंद आते है और उनके गुनगुनाने का तरीका बेहद अलग है जिसे अन्य गायक आज भी टक्कर नहीं दे सकते है। आज भी इनका जादू बरकारा है। जो भी इनका गान सुनता है वो किसी और ही दुनिया में चला जाता है।

याद है 'ओ सनम' के गायक लकी अली? अब वह कैसा दिखता है - देखो | पीपल न्यूज़ -  Rojgar Rath News
लकी अली

5. सुनिधि चौहान

सुनिधि चौहान आज सबसे लोकप्रिय महिला गायकों में से एक है। हिंदी के अलावा, सुनिधि ने तमिल, तेलुगू, कन्नड़, बंगाली और गुजराती जैसी अन्य भारतीय भाषाओं में गीत रिकॉर्ड किये है। लगभग हर दूसरे हिन्दी फिल्म में आज सुनिधि ने कम से कम एक गाना गाया है

We Need to Stop Pulling Each Other Down, Says Sunidhi Chauhan
सुनिधि चौहान

4. सोनू निगम

सोनू निगम हिंदी प्ले बेक सिंगिंग के आमिर खान है। उनकी चॉकलेट बॉय की इमेज ने उन्हें काफी प्रसिधी दिलाई है। उनका लव बल्लाड्स पहले सुर्खियों में ले आया। उसके बाद उनके कुछ सोलो एल्बम ने हिंदी फिल्म जगत में धूम मचा दी। उसके बाद उन्होंने पूरी तरह आपना जीवन प्ले बेक सिंगिंग के नाम कर दिया। आज भी उनके रोमांटिक गाने उसी तरह सुने जाते है। सोनू निगम जी का मै एक हिंदी मूवी भी देखा हूँ जिसका नाम है ” जानीदुश्मन “, क्या कमाल का अभिनय किया है इन्होने सन्नी पाजी के सौतेले भाई का ।।

Which are the best songs of Sonu Nigam? - Quora
सोनू निगम

3. आरडी बर्मन

महान संगीतकार राहुल देव बर्मन ( इन्हें पंचन दा के नाम से भी जाना जाता है ) को हिंदी फिल्म संगीत की दुनिया में सर्वाधिक प्रयोगवादी एवं प्रतिभाशाली संगीतकार के रूप में आज भी याद किया जाता है। संगीत के साथ प्रयोग करने में माहिर आरडी बर्मन पूरब और पश्चिम के संगीत का मिश्रण करके एक नई धुन तैयार करते थे। कई म्यूजिक डायरेक्टर आज उनकी पुरानी धुनों रीमिक्स कर पैसा कामा रहे है

RD Burman Death Anniversary: इस एक्टर ने दिया था आरडी बर्मन को 'पंचम दा'  नाम, जानिए ये दिलचस्प किस्सा... - Haribhoomi | DailyHunt
आरडी बर्मन

9. आशा भोसले

आशा गणपतराव भोसले (जन्म: 8 सितम्बर 1933) हिन्दी फ़िल्मों की मशहूर पार्श्वगायिका हैं। आशा भोसले ने अपना पहला गीत वर्ष 1948 में सावन आया फिल्म चुनरिया में गाया। आशा की विशेषता है कि इन्होंने शास्त्रीय संगीत, गजल और पॉप संगीत हर क्षेत्र में अपनी आवाज़ का जादू बिखेरा है और एक समान सफलता पाई है।

आशा भोसले ने 1943 में गाना शुरू किया था। आशा भोसले को संगीत के इतिहास में सबसे अधिक योग दान के लिए गिनीस बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड से समानित किया गया है।

Asha Bhosle: Lata didi and I rarely discuss music-m.khaskhabar.com
आशा भोसले

1 . लता मंगेशकर

कुमारी लता दीनानाथ मंगेशकर का जन्म 28 सितम्बर, 1929 इंदौर, मध्यप्रदेश में हुआ था। उनके पिता दीनानाथ मंगेशकर एक कुशल रंगमंचीय गायक थे। दीनानाथ जी ने लता को तब से संगीत सिखाना शुरू किया, जब वे पाँच साल की थी। उनके साथ उनकी बहनें आशा, ऊषा और मीना भी सीखा करतीं थीं।

लता मंगेशकर के 91वें जन्मदिन पर पीएम मोदी ने बधाई देते हुए कही ये बात... -  pm modi said this while congratulating lata mangeshkar on his 91st birthday
लता मंगेशकर

सुर की साक्षात् देवी लता जी जैसा सुरीला और मीठा गाने वाले न तो इस पृथ्वी पे कोई है और न कोई होगा,
माँ सरस्वती का बास है लता जी के कंठ में, इतना उम्र हो जाने के बाद भी अभी भी यदि को गातीं हैं तो पूरा माहौल दांग रह जाता है, चाहे तूने ओ रंगीले पिया क्या जादू किया ये गाना हो या शीशा हो या दिल हो टूट जाता है गाना हो इनका गाया हुवा हरेक गीत सीधे दिल को छूता है, लता मंगेशकर को भारतीय संगीत का पर्याय मन जाता है। लता मंगेशकर को भारत रत्न भी मिल चूका है। इन्होने ब्लैक एंड वाइट सिनेमा से शुरवात की थी और रंगीन फिल्मों के लिए भी इन्होने हजारो गाने गाये है,

देवी तुल्य लता जी को मै बारम्बार प्रणाम करता हूँ ।।

आपलोग यदि और ज्यादा जानना चाहते हैं हमारे और हमारे ब्लॉग के बारे में तो हमे Social Media हैंडल्स पे फॉलो करना बिलकुल न भूलें, सारा लिंक दिया हुवा है Facebook Page , Instagram , Twitter .

Shri Krishna Wallpapers HD - Wallpaper Cave
jai sree krishna

आशा करता हूँ आप सभी का प्यार मिलेगा हमें, मै ऐसे ही इंटरेस्टिंग फैक्ट को लता रहूँगा बस आप सभी का साथ चाहिए,
चलिए तो मिलते हैं नेक्स्ट पोस्ट में

बहुत बहुत धन्यवाद

जय श्री राम
जय श्री कृष्णा
हर हर महादेव

भारत की सबसे खूबसूरत 10 महिलाएं

0
girl, red hair, makeup

India’s Top 10 beautiful women in 2021 (भारत की सबसे खूबसूरत 10 महिलाएं )

मेरे इस ब्लॉग में आप सभी का बहुत बहुत स्वागत है,
इस ब्लॉग का नाम है top10th.in
इस ब्लॉग के माध्यम से मै आप सभी को दुनियाँ भर की अनसुनी और अद्भुत बातें को बताने वाला हूँ और मेरा हरेक आर्टिकल रैंकिंग रिलेटेड टॉपिक को कवर करेगा जिससे आप सभी का सामान्य ज्ञान के साथ साथ वर्तमान ज्ञान भी मजबूत होगा ।।
आशा करता हूँ की हमारा मेहनत आपको जरूर पसंद आएगा ।।

भारत में जितनी सुन्दर और कोमल ह्रदय की महिला पायी जाती है उतना कोमल ह्रदय की महिला पुरे विश्व में नहीं पायी जाती है, हमे गर्व होना चाहिए की हमारे देश का संस्कृति आज के मॉडर्न युग में भी अपने संस्कृति से ज़ुरा हुवा है , मै महिलाओं को इस लिए कोमल बोला क्योंकि की मेरी भी माँ है , मै दुनियाँ के सभी महिलाओं का सम्मान करता हूँ ( बस साहिनबाग में बैठे बिरयानि खा के अपना पेट ९ महीना के लिए फुलाने वाली महिला नहीं ) मै सम्मान करता हूँ तो उन महिलाओं का जो अपने संस्कृति में रहते हैं और अपने परिवार को सुखी रखते हैं
तो आइये हम सभी मिल के उनके बारे में थोड़ा बहुत जानते हैं , आशा करता हूँ आपको जरूर पसंद आएगा ।।

10. मधुबाला

उन्होंने मुगल-ए-आज़म, चलती का नाम गाड़ी, अमर महल जैसी फ़िल्मों काम किया जिसके लिए उन्हें दुनिया भर से वाहवाही प्राप्त की। इन्हे हॉलीवुड से भी बुलावा आया था। अमेरिकन मैगज़ीन थियेटर आर्ट्स के अगस्त 1952 के अंक में उनके ऊपर एक लेख लिखा गया था।

मधुबाला

9. रेखा

रेखा एक ऐसी ऐक्ट्रेस है जिनकी उम्र मानो थम-सी गयी हो। आज 62 साल की उम्र में भी रेखा जी 50 साल की हो मानो इतनी अच्छी दिखती है। इनके मेकअप से लेकर साड़ीओं तक सब कुछ क्लासी होता है। रेखा जी सच में बॉलीवुड की एवरग्रीन दीवा है।

rekha birthday special story know actress net worth property luxury car and  her family members div | Rekha Birthday : 7 बहनें और 1 भाई हैं रेखा, फिर भी  रहती हैं अकेले,
रेखा

8. हेमा मालिनी

इस बेमिसाल ऐक्ट्रेस को हम सभी पहचानते है। फ़िल्मों के साथ-साथ वह डान्स में भी पारंगत है और दुनियाभर में डान्स शोज करती है। इसके अलावा वह राजकरण में भी सक्रीय है।

hema malini and others from the entertainment industry at shabdotsav

7. माधुरी दीक्षित

माधुरी एक बेहतरीन एक्ट्रेस हैं। एक लम्बे अरसे के बाद वह वापस भारत में आयी। तब भी लोग उन्हें बड़े परदे पर देखने के लिए बेताब है। इन्होने कई हिट फ़िल्मों में काम किया है। माधुरी का स्माइल और डान्स इन दोनों पर लोग फ़िदा है।

Madhuri Dixit Photos [HD]: Latest Images, Pictures, Stills of Madhuri Dixit  - FilmiBeat

6. प्रियंका चोपड़ा

यह मिस इंडिया सच में ‘ब्युटी विथ ब्रेन’ है। प्रियंका बॉलीवुड के साथ-साथ हॉलीवुड में भी काम कर रही है और ये गाती भी हैं।  प्रियंका का गाया हुआ गाना ‘इन माय सिटी’ काफी फेमस हुआ था।

Priyanka Chopra Hot Sexy Bold And Sensational Pics, See Images | इन  तस्वीरों में देखें प्रियंका चोपड़ा का अब तक का सबसे हॉट अवतार, देखें  तस्वीरें | Lokmat News Hindi
प्रियंका चोपड़ा

5. दीपिका पादुकोण

मशहूर बैडमिंटन खिलाड़ी प्रकाश पादुकोण की बेटी न ही सिर्फ़ एक अच्छी बैडमिंटन खिलाड़ी और  मॉडल हैैं बल्कि एक  बेहतरीन अदाकारा भी है। इस डस्की ब्युटी के बहुत सारे दीवाने है।

Deepika Padukone Bold Video: दीपिका पादुकोण के सेक्सी अंदाज ने दिल पर चलाई  छुरियां, कहीं कत्लेआम न हो जाए - Deepika padukone bold hot and sexy video  in bikini nude watch -
दीपिका पादुकोण

4. अनुष्का शर्मा

अपने करियर की शुरुवात शाहरुक खान के साथ ‘रब ने बना दी जोड़ी’ फ़िल्म से करने वाली अनुष्का ने आजतक कई सारी हिट फ़िल्मों में काम किया है। हाल ही में अनुष्का ने लिप सर्जरी की है जिससे उनका लुक बदल गया है।

Leaked Anushka Sharma Hot Item Number From Bombay Velvet- Inext Live
अनुष्का शर्मा

3. करीना कपूर-खान

करीना हमेशा अपनी एक्टिंग, डाइटिंग और ज़ीरो फिगर के लिए चर्चे में रही है। सुन्दर होने के अलावा वह एक अच्छी अभिनेत्री भी है और अलग-अलग प्रकार की फ़िल्मों में काम करती है।

Kareena Kapoor Khan Reveals The Real Reason Why She Signed Angrezi Medium
करीना कपूर-खान

2. कटरीना कैफ

लंदन से आई हुई कटरीना ने जब बूम नाम की फ़िल्म से अपने करियर की शुरुआत की तब उन्हें इतना अच्छा रिस्पांस नहीं मिला। पर आज वह बॉलीवुड के टॉप एक्ट्रेसमें गिनी जाती है। आज उनके नाम पर कई सारी हिट फ़िल्में है। चाहे उनके एक्टिंग के बारे में लोग खुश ना हो लेकिन वह ज़रूर काफी सुंदर और स्टाइलिश है।

हॉट अंदाज में मालदीव में एन्जॉय कर रही कैटरीना कैफ - Photos Viral -  पोलीसनामा (Policenama)
कटरीना कैफ

1. ऐश्वर्या राय

1994 की यह मिस वर्ल्ड अपनी मोहक अदा और नीली आंखों से कई दिलों की धड़कनें बढ़ा देती है। पार्ट टाइम मॉडल के तौर पर अपने करियर की शुरुआत करने वाली इस सुंदरता की महारानी ने कई सारी फ़िल्मों में भी काम किया है और आज भी जग के सबसे सुंदर महिलाओं में इनका नाम लिया जाता है

aishwarya rai singing video: #Throwback: गजब की सिंगर हैं ऐश्वर्या राय  बच्चन, यकीन नहीं तो देख लीजिए यह विडियो - actress aishwarya rai bachchan an  amazing singer this throwback video is a

तो भाई और बहन लोग बहुत मेहनत से लिखा हूँ, आपलोग इस पोस्ट को पढ़िए और अपना सुझाव दीजिये ,
मैं तो फ़िदा हूँ इन दसों पे वो भी बच्चे से, ऐश्वर्या और कटरीना को तो मैं बचपन से हद से ज्यादा पसंद करता हूँ,
मेरा सपना है की मै अपने इस जीवन काल में इन सबसे एक न एक बार मिलूं। और मिलूंगा जरूर बस मेरा साथ दीजिये आपसभी ।।

Lord Krishna's Funeral Vs Lockdown Time Deaths
Jai Sri Krishna

आपलोग यदि और ज्यादा जानना चाहते हैं हमारे और हमारे ब्लॉग के बारे में तो हमे Social Media हैंडल्स पे फॉलो करना बिलकुल न भूलें, सारा लिंक दिया हुवा है Facebook Page , Instagram , Twitter .

बहुत बहुत धन्यवाद

Top 10 Most Beautiful Female Politicians Of India (2021)

0
Top 10 Most Beautiful Female Politicians Of India
Top 10 Most Beautiful Female Politicians Of India

मिलिए भारत की 10 खूबसूरत महिला नेता से

मेरे इस ब्लॉग में आप सभी का बहुत बहुत स्वागत है,
इस ब्लॉग का नाम है top10th.in
इस ब्लॉग के माध्यम से मै आप सभी को दुनियाँ भर की अनसुनी और अद्भुत बातें को बताने वाला हूँ और मेरा हरेक आर्टिकल रैंकिंग रिलेटेड टॉपिक को कवर करेगा जिससे आप सभी का सामान्य ज्ञान के साथ साथ वर्तमान ज्ञान भी मजबूत होगा ।।
आशा करता हूँ की हमारा मेहनत आपको जरूर पसंद आएगा ।।

नई दिल्ली। भारत सुंदरता और प्रतिभा से समृद्ध देश है। क्योंकि यहां विभिन्न धर्मों और संस्कृतियों के लोग रहते हैं। क्योंकि ये बड़ी आबादी वाला देश है। भारत में महिला नेताओं की तादाद काफी ज्यादा है। इस तथ्य के बारे में कोई संदेह नहीं है कि महिला मेहनती कार्यकर्ता हैं, और महिला राजनेता कोई अपवाद नहीं हैं। भारत में कुछ महिला नेता ऐसी भी है जिन्होंने अपनी प्रतिभा के साथ अपनी खूबसूरती से भी लाखों लोगों का दिल चुराया है।

10. पुष्पम प्रिया चौधरी

पुष्पम प्रिया चौधरी लंदन में रहती थी। वह जेडीयू नेता विनोद चौधरी की बेटी हैं। उन्होंने नई राजनीतिक पार्टी ‘प्लूरल्स’ बनाया है। वह किस सीट से चुनाव लड़ेंगी और उनके साथ कौन-कौन से नेता शामिल है इसकी कोई जानकारी उनकी तरफ से नहीं दी गई है। वो चर्चा में तब आईं थी जब उन्होंने कहा था कि वो बिहार की सीएम बनना चाहती हैं। पुष्पम के ट्विटर डीटेल के अनुसार उन्होंने इंग्लैंड के द इंस्टीट्यूट ऑफ डेवलपमेंट स्टडीज विश्वविद्यालय से एमए इन डेवलपमेंट स्टडीज और लंदन स्कूल ऑफ इकोनोमिक्स एंड पॉलीटिकल साइंस से पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन में एमए किया है।

Pushpam Priya Choudhary Exclusive Interview With Amar Ujala On Bihar  Assembly Election And Nitish Tejashwi - जब तक बिहार को नंबर वन न बना दूं,  थकूंगी नहीं: पुष्पम प्रिया - Amar Ujala
पुष्पम प्रिया चौधरी

9. डिंपल यादव

डिंपल यादव उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की धर्मपत्नी हैं, जो कि कन्नौज से लगातार दो बार सांसद रह चुकी हैं। डिंपल यादव को उनके सादगी भरे स्वभाव के लिए जाना जाता है। वो अधिकतम महिलाओं के मुद्दे पर काम करती हैं। महिलाओं के खिलाफ होने वाले क्राइम को लेकर वह खासी चिंतित रहती हैं। लखनऊ में पढ़ाई के दौरान डिंपल की मुलाकात अखिलेश से हुई थी। 1999 में अखिलेश यादव और डिंपल की शादी हुई थी। अखिलेश और डिंपल के तीन बच्चे हैं।

UP Polls 2017: Jaya and Dimple Yadav campaign for SP women candidates | जया  बच्चन और डिंपल यादव ने महिला प्रत्याशियों के लिए मांगे वोट | Hindi News,  यूपी एवं उत्‍तराखंड
डिंपल यादव

8. नुसरत जहां

बंगाली ब्यूटी नुसरत जहां भारतीय अभिनेत्री एवं राजनीतिज्ञ है जो बंगाली भाषा की फिल्मों में काम करती है। नुसरत जहां टीएमसी सांसद हैं। 19 जून को बंगाल के ही टॉप बिजनेसमैन निखिल जैन से शादी कर ली। इन्होने एक्ट्रेस से सांसद बनने तक का सफर भी बखूबी तय किया है। नुसरत जहां ने इस साल 2019 में लोकसभा चुनाव में ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस के टिकट से चुनाव लड़ा। बंगाल की बशीरहाट सीट से चुनाव लड़ने वाली नुसरत जहां ने करीब 3.5 लाख वोटों से जीत दर्ज की थी।

TMC MP Nusrat Jahan Over Love jihad politics and BJP | TMC सांसद Nusrat  Jahan का लव जेहाद पर बयान, BJP को दी ये नसीहत । Hindi News, देश
नुसरत जहां

7.  मिमी चक्रवर्ती

पश्चिम बंगाल की मिमी चक्रवर्ती ने साल 2019 में लोकसभा चुनाव जीता। उन्हें सोशल मीडिया पर सबसे खूबसूरत सांसद होने का खिताब दिया जा चुका है। मिमि ने जादवपुर से सीट लड़ी थी और उन्होंने कुल 688472 वोट हासिल किए थे जबकि बीजेपी के अनुपम हजारा को 393233 वोट और मार्क्सवादी कम्यूनिस्ट पार्टी के बिकाश रंजन आचार्य को 302264 वोट मिले थे। बता दें कि मिमी एक्ट्रेस से संसद बनी।

Mimi Chakraborty News in Hindi, Mimi Chakraborty की लेटेस्ट न्यूज़, photos,  videos | Zee News Hindi
मिमी चक्रवर्ती

6. जया प्रदा

जया प्रदा 90 के दशक की खूबसूरत एक्ट्रेस में से एक हैं। साल 1994 से उन्होंने राजनीती जगत में कदम रखा। जया प्रदा का असली नाम ललिता रानी है। फिल्मों में आने के बाद जैसे कई कलाकारों के नाम बदलते हैं वैसे ही ललिता रानी जया प्रदा हो गईं।

Jaya Prada reaction on jaya bachchan statement over drugs in bollywood जया  प्रदा का जया बच्चन के बयान पर आया रिएक्शन - News Nation
जया प्रदा

5. अंगूरलता डेका

असम की विधायक अंगूरलता डेका फिल्मों और थिएटर की दुनिया में अपनी छाप छोड़ने के बाद राजनीति में आईं हैं। चुनाव में अंगूरलता सोशल मीडिया पर काफी चर्चा में रह चुकी हैं। विधायक अंगूरलता डेका ने असम के बतद्रोवा से भाजपा के टिकट पर जीत हासिल की, चुनाव में कांग्रेस के गौतम बोरा को हराया। खूबसूरती में वो किसी से काम नहीं हैं।

C'ship Bill no threat to Assam: Angoorlata Deka - Pratidin Time
अंगूरलता डेका

4. दीया कुमारी

राजकुमारी दीया कुमारी राजस्थान के राज परिवार से हैं और वह बीजेपी की टिकट पर राजसमन्द से लोकसभा सांसद हैं। जयपुर की राजकुमारी दिया कुमारी जयपुर के महाराजा सवाई सिंह और महारानी पद्मिनी देवी की पुत्री हैं।

Ex Princess Diya Kumari Did Love Marriage - इस एक्स प्रिंसेज ने की थी लव  मैरिज, झेला था विरोध, अब हैं ये Mla - Amar Ujala Hindi News Live
दीया कुमारी

3. अदिति सिंह

कांग्रेस की बागी युवा विधायक अदिति सिंह भी खूबसूरती के मामले में किसी बॉलीवुड एक्ट्रेस से कम नहीं है। हाल ही में उनके एक बयां ने सियासी गलियारों में खलबली मचा रखी है।

raebareli sadar mla aditi singh grand mother alleged for torture, seeks  security from DM | रायबरेली सदर विधायक अदिति सिंह पर उनकी दादी ने लगाए ये  गंभीर आरोप | Hindi News, प्रदेश
अदिति सिंह

2. नगमा

90 के दशक की एक और खूबसूरत अदाकारा नगमा कांग्रेस नेता है। नगमा ग्लैमरस एक्ट्रेस में से एक हैं। भारतीय कांग्रेस पार्टी की एक मुखर समर्थक 2007 में आंध्र प्रदेश राज्य सभा सीट के लिए नगमा की सिफारिश की गई थी। अप्रैल 2004 के चुनाव के दौरान वे आंध्र प्रदेश में कांग्रेस पार्टी की एक प्रमुख स्टार प्रचारक थीं। उन्होंने केवल औपचारिक रूप से उसी महीने हैदराबाद में, कांग्रेस पार्टी की ‘धर्मनिरपेक्षता और गरीब तथा कमजोर वर्गों के कल्याण के प्रति प्रतिबद्धता’ को पार्टी में शामिल होने का कारण बताते हुए, सदस्यता ग्रहण की थी।

Nagma Biography in Hindi | नगमा (अभिनेत्री) जीवन परिचय | StarsUnfolded -  हिंदी
नगमा

1.  नवनीत

नवनीत ने 2019 लोकसभा चुनाव में अमरावती से नवनीत रवि राणा ने शिवसेना के आनंद राव अडसुल को 36951 वोटों से हराकर राजनीतिक विश्लेषकों को चौंका दिया। नवनीत को लोकसभा चुनाव 2019 का चुनाव जीतने वालों में सबसे खूबसूरत सांसद बताया जाता है।

Navneet rana: Latest News, Photos, Videos on Navneet rana | Shortpedia News  App
नवनीत

सच में पूछिए तो मै आश्चर्य चकित हु और मै ये सोचने पे मजबूर हो गया की हमारे देश में महिलाओं को पहले से आजादी देना चाहिए था,
ये घटिया टाइप सती प्रथा तो मेरा दिमाग दंग कर दिया था, मै जबसे इस सती प्रथा के बारे में सुना हु तब से मेरे खून में उबाल मार रहा था की आखिर में महिलाओं के साथ ऐसा घटिया व्यव्हार क्यों किया गया था ।।
चाहे महिला हो या पुरुष दोनों को समान का अधिकार मिलना चाहिए और उन पैरेंट्स को ये बताना चाहता हु की चाहे बेटा हो या बेटी दोनों को समान अधिकार होना चाहिए , आज के दिन में सामान्य जाती को नौकरी नहीं मिलता जबकि उनका उच्चतम मार्क्स रहता है और जातिवाद के कारन आजकल घटिया टाइप लोग जिनको कुछ ज्ञान नहीं है फिर भी आरक्षण के कारन उनको सरकारी नौकरी मिल जाता है जिससे हमारा देश और गर्त में जा रहा है ,
ज्ञानऔर शिक्षा के हिसाब से काम दिया जाता है , ऐसे कानून से कौन खुस होगा ये मैं नहीं आपलोग इसको पढ़ो और इसका सुझाव हमरे कमेंट बॉक्स में दो मालिक और मलकाइन लोग ।।

आपलोग यदि और ज्यादा जानना चाहते हैं हमारे और हमारे ब्लॉग के बारे में तो हमे Social Media हैंडल्स पे फॉलो करना बिलकुल न भूलें, सारा लिंक दिया हुवा है Facebook Page , Instagram , Twitter .

बहुत बहुत धन्यवाद

10 महान भारतीय, जिन्होंने दुनिया में बदल दी भारत की छवि

2
10 महान भारतीय, जिन्होंने दुनिया में बदल दी भारत की छवि
10 महान भारतीय, जिन्होंने दुनिया में बदल दी भारत की छवि10 महान भारतीय, जिन्होंने दुनिया में बदल दी भारत की छवि

10 महान भारतीय, जिन्होंने दुनिया में बदल दी भारत की छवि

मेरे इस ब्लॉग में आप सभी का बहुत बहुत स्वागत है,
इस ब्लॉग का नाम है top10th.in
इस ब्लॉग के माध्यम से मै आप सभी को दुनियाँ भर की अनसुनी और अद्भुत बातें को बताने वाला हूँ और मेरा हरेक आर्टिकल रैंकिंग रिलेटेड टॉपिक को कवर करेगा जिससे आप सभी का सामान्य ज्ञान के साथ साथ वर्तमान ज्ञान भी मजबूत होगा ।।
आशा करता हूँ की हमारा मेहनत आपको जरूर पसंद आएगा ।।

दुनिया आज विकास के जिस ऊंचे स्‍तरों पर हमें दिखाई दे रही है, वह विज्ञान और वैज्ञानिकों के महान अविष्‍कारों की बदौलत ही है. दुनिया की इस तस्‍वीर को बदलने में भारतीय वैज्ञानिकों का भी महत्‍वपूर्ण योगदान है.

विज्ञान की दुनिया निरंतर खोज, परिवर्तन, अविष्कारों की ओर लगातार चलती रहती है. दुनिया आज विकास के जिस ऊंचे स्तरों पर हमें दिखाई दे रही है, वह विज्ञान और वैज्ञानिकों के महान अविष्कारों की बदौलत ही है. खास बात यह है कि दुनिया की इस तस्वीर को बदलने में भारतीय वैज्ञानिकों का भी महत्वपूर्ण योगदान है. आइए आपको बताते हैं भारत के 10 ऐसे महान वैज्ञानिक, जिन्होंने विश्वपटल पर भारत के प्रति नजरिये को बदल दिया और देश में विज्ञान के क्षेत्र में क्रांति ला दी, तो आइये उनके बारे में जानते हैं.

10. चंद्रशेखर वेंकटरमन :

इनका पूरा नाम चंद्रशेखर वेंकटरमन था और विज्ञान के क्षेत्र में नोबेल पाने वाले वे पहले वैज्ञानिक थे. 1930 में उन्‍हें भौतिक शास्त्र के लिए नोबेल पुरस्कार दिया गया. वेंकटरमन ने प्रकाश पर गहन अध्ययन किया. उनके अविष्‍कार को रमन-किरण के रूप में जाना गया. रामन प्रभाव स्पेक्ट्रम पदार्थों को पहचानने और उनकी अन्तरंग परमाणु योजना का ज्ञान प्राप्त करने का महत्‍वपूर्ण साधन के रूप में जाना गया. रमन को 1954 ई. में भारत रत्न दिया गया जबकि 1957 में लेनिन शान्ति पुरस्कार प्रदान किया

चंद्रशेखर वेंकटरमन

9. हरगोबिंद खुराना:

भारतीय मूल के इस अमेरिकी नागरिक और वैज्ञानिक डॉ. हरगोबिंद खुराना को 1968 में चिकित्सा के क्षेत्र में नोबेल पुरस्‍कार दिया गया. उन्‍होंने आनुवांशिक कोड (डीएनए) की व्याख्या की और उसका अनुसंधान किया. खुराना ने मार्शल, निरेनबर्ग और रोबेर्ट होल्ले के साथ मिलकर चिकित्सा के क्षेत्र में काम किया. खुराना के इस अनुसंधान से चिकित्‍सा क्षेत्र को यह पता लगाने में मदद मिली कि कोशिका के आनुवंशिक कूट (कोड) को ले जाने वाले न्यूक्लिक अम्ल (एसिड) न्यूक्लिओटाइड्स कैसे कोशिका के प्रोटीन संश्लेषण (सिंथेसिस) को नियंत्रित करते हैं.

हरगोविंद खुराना

8. सुब्रमण्‍यम चंद्रशेखर:

सुब्रह्मण्यम चंद्रशेखर को 1983 में भौतिक शास्त्र के लिए नोबेल पुरस्कार दिया गया. डॉ. सुब्रह्मण्यम चंद्रशेखर ने श्‍वेत बौने नाम के नक्षत्रों की खोज की. उनके द्वारा खोजे गए इस नक्षत्रों की सीमा को चंद्रशेखर सीमा कहा जाता है. इस भारतीय वैज्ञानिक की इस खोज ने दुनिया की उत्‍पत्ति के रहस्‍यों को सुलझाने में बहुत योगदान दिया. वे महान भारतीय वैज्ञानिक सीवी रमन के भती‍जे थे. उनका नाम 20वीं शताब्‍दी के महान वैज्ञानिकों की सूची में शुमार किया जाता है. उन्होंने खगोल भौतिक शास्त्र तथा सौरमंडल से संबंधित विषयों पर अनेक पुस्तकें लिखीं.

सुब्रमण्‍यम चंद्रशेखर

7. वेंकटरामन रामकृष्णन :

तमिलनाडू के चिदंबरम जिले से आने वाले भारतीय मूल के वेंकटरामन रामकृष्णन को साल 2009 में रसायन विज्ञान में नोबेल पुरस्का्र दिया गया. रामन को यह पुरस्कार कोशिका के अंदर प्रोटीन का निर्माण करने वाले राइबोसोम की कार्यप्रणाली व संरचना के उत्कृष्ट अध्ययन के लिए दिया गया.

वेंकटरामन रामकृष्णन

6. सत्येंकनाथ बोस :

इस महान भारतीय वैज्ञानिक की महानता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि भौतिक शास्त्र में बोसान और फर्मियान नाम के दो अणुओं में से बोसान सत्येन्द्र नाथ बोस के नाम पर ही है. उन्होंने अपने समय के महान वैज्ञानिक अल्बर्ट आइंस्टाइन के साथ मिलकर बोस-आइंस्टीन स्टैटिस्टिक्स की खोज की.

सत्येंकनाथ बोस

5. होमी जहांगीर भाभा:

डॉ. होमी जहांगीर भाभा के बिना भारतीय परमाणु ऊर्जा कार्यक्रम की कल्पना ही नहीं की जा सकती. उन्हें आर्किटेक्ट ऑफ इंडियन एटॉमिक एनर्जी प्रोग्राम भी कहा जाता है. उन्हीं की बदौलत 1974 में देश पहला परमाणु परीक्षण करने में सफल रहा. उन्होंने एक तरह से देश को परमाणु शक्ति संपन्न बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई. चौंकाने वाली बात यह थी कि उन्होंने नाभिकीय विज्ञान में तब कार्य आरम्भ किया जब इसके बारे में ज्ञान न के बराबर था, जबकि उनकी नाभिकीय ऊर्जा से विद्युत उत्पादन की कल्पना को तो कोई मानने को तैयार नहीं था.

होमी जहांगीर भाभा

4. डॉ जगदीश चंद्र बोस:

डॉ. जगदीशचंद्र बोस को सर बोस भी कहा जाता था. उन्हें भौतिकी, जीवविज्ञान, वनस्पतिविज्ञान तथा पुरातत्व का गहन ज्ञान था. वे दुनिया के पहले ऐसे वैज्ञानिक थे, जिन्होंंने रेडियो और सूक्ष्म तरंगों की प्रकाशिकी पर कार्य किया. इसके अलावा वनस्पति विज्ञान में भी उन्होनें कई महत्वपूर्ण खोजें की. वे भारत के पहले वैज्ञानिक थे, जिन्हें अमेरिकी पेटेंट मिला. पूरी दुनिया में उन्हें रेडियो विज्ञान का पिता कहा जाता है.

डॉ जगदीश चंद्र बोस

3. विक्रम साराभाई:

विक्रम अंबालाल साराभाई भारत के अंतरिक्ष इतिहास के जनक कहे जा सकते हैं. एक तरह से उन्होंलनें भारत के अंतरिक्ष प्रोग्राम की नींव रखी. उन्होंरने देश में 40 अंतरिक्ष और शोध से जुड़े संस्थाहनों को खोला. उन्होंरने आणविक ऊर्जा, इलेक्ट्रॉनिक्स और अन्य अनेक क्षेत्रों में भी बराबर का योगदान किया. गुजरात के अहमदाबाद से आने वाले सारा भाई पर तिरूवनंतपुरम में स्थापित थुम्बा इक्वेटोरियल रॉकेट लॉचिंग स्टेशन (टीईआरएलएस) और सम्बध्द अंतरिक्ष संस्थाओं का नाम बदल कर विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केन्द्र रख दिया गया. यह भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के एक प्रमुख अंतरिक्ष अनुसंधान केन्द्र के रूप में उभरा.

विक्रम साराभाई

2. जयंत विष्णुदनार्लीकर :

महाराष्ट्र् के कोल्हा पुर में जन्में प्रसिद्ध वैज्ञानिक जयंत विष्णु࠳नार्लीकर भौतिकी के वैज्ञानिक हैं. उन्होंने ब्रह्मांड की उत्पत्ति के बिग बैंग की थ्योडरी के अलावा नये सिद्धांत स्थायी अवस्था के सिद्धान्त (Steady State Theory)पर भी काम किया है. उन्होंने इस सिद्धान्त के जनक फ्रेड हॉयल के साथ मिलकर काम किया और हॉयल-नार्लीकर सिद्धान्त का प्रतिपादन किया. कई पुरस्कारों से सम्मानित नार्लीकर ने विज्ञान के प्रचार-प्रसार के लिए विज्ञान साहित्यड में भी अपना अमूल्यड योगदान दिया.

जयंत विष्णुदनार्लीकर

1.एपीजे अब्दुल कलाम :

भारत के पूर्व राष्ट्रपति और भारत रत्न एपीजे अब्दुल कलाम भारत में मिसाइल मैन के नाम से भी जाने जाते हैं. 1962 में वे भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन में शामिल हुए. कलाम को प्रोजेक्ट डायरेक्टर के रूप में भारत का पहला स्वदेशी उपग्रह (एस.एल.वी. तृतीय) प्रक्षेपास्त्र बनाने का श्रेय हासिल है. 1980 में कलाम ने रोहिणी उपग्रह को पृथ्वी की कक्षा के निकट स्थापित किया था. उन्हीं के प्रयासों की वजह से भारत भी अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष क्लब का सदस्य बन गया. इसरो लॉन्च व्हीकल प्रोग्राम को परवान चढ़ाने का श्रेय भी इन्हें प्रदान किया जाता है. डॉक्टर कलाम ने स्वदेशी लक्ष्य भेदी (गाइडेड मिसाइल्स) को डिजाइन किया. खास बात यह है कि कलाम ने अग्नि और पृथ्वी जैसी मिसाइल्स को स्वदेशी तकनीक से बनाया.

एपीजे अब्दुल कलाम

वैज्ञानिक ही हमारे देश के धरोहर हैं , आज हमारा देश यदि सातवें आसमान को चुम रहा है तो इसका श्रेय वैज्ञानिकों को जाता है ,
आज के समय में हम घर बैठे बैठे दुनिया भर का हाल जान लेते हैं , घर बैठे बैठे सिर्फ एक मोबाइल से ढेरों काम कर लेते हैं , यही नहीं बल्कि वैज्ञानिकों और उनके तकनीक के कारन हमे भविष्य में क्या होगा इसका भी जानकारी मिल जाता है ।।
दुनियां के तमाम वैज्ञानिकों को मै दिल से नमन करता हु और आशा करता हु की वो ऐसे ही हमारे भारत देश को तरक्की के मार्ग पे ले चलें क्योंकि हमे अपने भारत देश से बहुत ज्यादा प्यार है और गर्व भी ।।

आपलोग यदि और ज्यादा जानना चाहते हैं हमारे और हमारे ब्लॉग के बारे में तो हमे Social Media हैंडल्स पे फॉलो करना बिलकुल न भूलें, सारा लिंक दिया हुवा है Facebook Page , Instagram , Twitter .

राम रामेति रामेति रमे रामे मनोरमे,
सहस्त्रनाम तुल्यंग रामनाम वरानने ।।

Jai Shri Ram versus Jai Siya Ram The difference significance uniqueness they carry

धन्यवाद

India’s Top 10 Beautiful Lady IAS /IPS Officers in 2021

0
India's Top 10 Beautiful Lady IAS /IPS Officers in 2021
India's Top 10 Beautiful Lady IAS /IPS Officers in 2021

(India’s Top 10 Beautiful Lady IAS /IPS Officer )भारत की 10 खूबसूरत महिला आईएएस/ आईपीएस ऑफिसर्स

मेरे इस ब्लॉग में आप सभी का बहुत बहुत स्वागत है,
इस ब्लॉग का नाम है top10th.in
इस ब्लॉग के माध्यम से मै आप सभी को दुनियाँ भर की अनसुनी और अद्भुत बातें को बताने वाला हूँ और मेरा हरेक आर्टिकल रैंकिंग रिलेटेड टॉपिक को कवर करेगा जिससे आप सभी का सामान्य ज्ञान के साथ साथ वर्तमान ज्ञान भी मजबूत होगा ।।
आशा करता हूँ की हमारा मेहनत आपको जरूर पसंद आएगा ।।

भारत की टॉप 10 महिला IAS/IPS ऑफिसर्स जिन्होंने अपने चुने हुए क्षेत्रों में शानदार सफलता हासिल की है। आइये जाने इनके बारे में।

यह कहना गलत नहीं है कि सिविल सेवाओं में पुरुषो के मुकाबले महिलाओं को कम आंका जाता है। प्रत्येक 20 पुरुष IAS अधिकारियों के लिए, केवल 1 महिला IAS अधिकारी है। इसके बावजूद, कई महिला सिविल सेवक हैं जिन पर हर देशवासी को गर्व है।

1. अन्ना रजम मल्होत्रा

जब भी भारत की सर्वश्रेष्ठ IAS ऑफिसर्स की बात होती है आज़ाद भारत की पहली महिला IAS अफसर अन्ना रजम मल्होत्रा का नाम सबसे पहले याद आता है। ऐसी कर्मठ और प्रतिभाशाली अफसर भारत का गौरव हैं और रहेंगी। अन्ना 1951 के उस दौर में सिविल सेवा के लिए सेलेक्ट हुई जिस समय औरतों को शिक्षा और नौकरी के लिए रोका जाता था। परन्तु अन्ना अपने दृढ निश्चय और संकल्प पर अड़ी रहीं। अन्ना का जन्म जुलाई 1927 में केरल के एर्नाकुलम जिले में हुआ था और उनका नाम अन्ना रजम जॉर्ज था। कोझिकोड में स्कूली शिक्षा प्राप्त करने के बाद उंहोने मद्रास विश्वविद्यालय से उच्च शिक्षा प्राप्त की। जब भी भारत की सर्वश्रेष्ठ IAS ऑफिसर्स की बात होती है आज़ाद भारत की पहली महिला IAS अफसर अन्ना रजम मल्होत्रा का नाम सबसे पहले याद आता है। ऐसी कर्मठ और प्रतिभाशाली अफसर भारत का गौरव हैं और रहेंगी। अन्ना 1951 के उस दौर में सिविल सेवा के लिए सेलेक्ट हुई जिस समय औरतों को शिक्षा और नौकरी के लिए रोका जाता था। परन्तु अन्ना अपने दृढ निश्चय और संकल्प पर अड़ी रहीं। अन्ना का जन्म जुलाई 1927 में केरल के एर्नाकुलम जिले में हुआ था और उनका नाम अन्ना रजम जॉर्ज था। कोझिकोड में स्कूली शिक्षा प्राप्त करने के बाद उंहोने मद्रास विश्वविद्यालय से उच्च शिक्षा प्राप्त की।

2. बी. चन्द्रकला

“लेडी दबंग” के नाम से मशहूर बी. चन्द्रकला 2008 बैच की IAS अफसर हैं। उत्तर प्रदेश कैडर की ये महिला IAS अफसर यूपी के सबसे संवेदनशील जिलों में से एक मेरठ में डीएम रह चुकी हैं। इसके अलावा, वो बुलंदशहर में भी डीएम रहीं। उनकी छवि एक ऐसी अफसर की रही जो समस्याओं के निदान के लिए सड़क पर ही अधिकारीयों और ठेकेदारों से काम का हिसाब मांग लेती थीं। वह अपने फेसबुक पोस्ट्स और ट्वीट्स से युवाओं में काफी चर्चित है। तेज़ स्वाभाव की वजह से चन्द्रकला को कई बार प्रशासनिक कारवाई का भी सामना करना  लेकिन उन्होंने हिम्मत रखते हुए अपना काम पूरी ईमानदारी और कुशलता से किया। वह फिलहाल Ministry of Drinking Water and Sanitation.में Deputy secretary के पद पर कार्यरत हैं। चन्द्रकला एक साहसी, ईमानदार और परिश्रमी अफसर हैं और लाखो युवाओ के लिए प्रेरणा हैं।

3. संजुक्ता पराशर

“आयरन लेडी ऑफ़ असम ” के नाम से जानी जाने वाली संजुक्ता पराशर2006  बैच की एक बहादुर आईपीएस अफसर हैं। संजुक्ता असम के सोनितपुर जिले में बतौर एसपी तैनात है। संजुक्‍ता पराशर बोडो उग्रवादियों के खिलाफ चलाए जा रहे ऑपरेशन में मुख्य भूमिका निभा रही हैं। उन्होंने 15 महीने के कार्यकाल में 16 आतकियों को ढेर किया था वहीँ 64 को गिरफ्तार किया। साल 2008 में उनकी पहली पोस्टिंग माकुम में असिस्टेंट कमांडेंट के तौर पर हुई. जिसके बाद उदालगिरी में बोडो और बांग्लादेशियों के बीच हुई हिंसा को काबू करने के लिए उन्हें भेजा गया। संजुक्ता कई बार अपना सारा समय रिलीफ कैंपों में ही रहती हैं। वहां वो उन लोगों से मिलती हैं जिन्होंने अपना घर किसी हमले में खो दिया है। संजुक्ता सोशल मीडिया पर भी खासा एक्टिव रहती हैं और युवाओं को पुलिस ज्वाइन करने के लिए प्रोत्साहित करती हैं।

4. किरण बेदी

भारत की पहली महिला आईपीएस अफसर किरण बेदी को परिचय की ज़रूरत नहीं है। अपने निडर और बेबाक स्वाभाव के लिए जानी जाने वाली किरण बेदी ने भारत के सबसे बड़े जेल – तिहार जेल में कई बड़े सुधार कर उसे अनुशासित किया। उन्हें 1994 में  Ramon Magsaysay Award से नवाज़ा गया। अपनी 35 साल की सेवा में  बेदी ने कई महत्वपूर्ण पदों पर काम किया और कई एहम अवार्ड्स भी प्राप्त किये। वर्तमान में वह पुडुचेर्री की Lieutenant General हैं।

5. स्मिता सभरवाल

People’s Officer के नाम से मशहूर स्मिता सभरवाल 2001 बैच की आईएएस अफसर हैं। उनकी पहली पोस्टिंग चित्तूर जिले में बतौर सब -कलेक्टर हुई और फिर आंध्र प्रदेश के कई जिलों में उन्होंने काम किया। उन्हें अप्रैल, 2011 में करीमनगर जिले का डीएम बनाया गया। उन्होंने हेल्थ केयर सेक्टर में ‘अम्माललाना’ प्रोजेक्‍ट की शुरुआत की.जिसकी सफलता के चलते स्मिता को प्राइम मिनिस्टर एक्सीलेंस अवार्ड भी दिया गया।  स्मिता का मानना है की उनके लिए सबसे बड़ा अवार्ड है लोगो के जीवन में सुधार लाना और देश की सेवा करना जब सबरवाल वारंगल में Municipal Commissioner के रूप में कार्यरत थी, तो उन्होंने ‘फंड योर सिटी’ योजना शुरू की और निवासियों को माओवाद प्रभावित क्षेत्रों में बेसिक इंफ्रास्ट्रक्चर बनाने में अपना योगदान देने के लिए प्रोत्साहित किया। स्मिता सबरवाल तेलंगाना के मुख्यमंत्री कार्यालय में तैनात होने वाली पहली महिला आईएएस अधिकारी हैं। स्मिता हर युवा के लिए एक आइकॉन है, जिन्होंने इतने एहम पदों पर काम करते हुये भी ईमानदारी और संवेदना का साथ नहीं छोड़ा।

6. अरुणा सुंदरराजन

अरुणा 1982 बैच की केरला कैडर की आईएएस अफसर हैं। वह वर्तमान में दूरसंचार विभाग (DoT) के सचिव (Secretary) के रूप में कार्यरत हैं। अपने 30 साल से ज़्यादा के कार्यकाल में अरुणा जी अपनी कई बेहतरीन विकासशील योजनाओ के लिए चर्चित रही। उन्होंने 1998 में केरल में आईटी विभाग की स्थापना में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। वहीँ उन्होंने केरला में e-literacy project, अक्षय भी शुरू किया जिसमें 1 मिलियन से ज़्यादा लोगो को बेसिक डिजिटल स्किल की ट्रेनिंग दी गई। यही नहीं, उन्होंने “Digital India” के तहत ‘National Optic Fiber Network Project” का भी निर्देशन किया जो विश्व का सबसे बड़ा connectivity प्रोजेक्ट है। अरुणा जी ने telecommunication  सेक्टर में अपना बेहतरीन और अगम्य योगदान दे कर ये सिद्ध किया की महिलायें किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं हैं।

7. मुग्धा सिन्हा

मुग्धा राजस्थान कैडर की 1999 बैच की आईएएस अफसर हैं जो झुंझनू जिले की पहली महिला कलेक्टर भी हैं। अपनी बेबाकी और ईमानदारी से काम करने की कार्यशैली के कारण अपनी १५ साल की सेवा में उनका 14 बार ट्रांसफर हो चुका है। माफिया और गुंडा तत्व उनके नाम से थरथर कांपते हैं। अपनी योग्यता और सिस्टम की ताकत से लैस होकर उन्होने शासन-प्रशासन की बागडोर थामी और सभी अवैध और गोरख धंदो को झुंझनू से ख़त्म किया। अपने “नो नॉनसेंस” स्वाभाव के कारण मुग्धा को कई बार मुश्किलों का  करना पड़ा लेकिन वह देश और नागरिको की सेवा में लगी रहीं। जब ये झुनझुनु की पहली कलेक्टर बन कर गई तो इन्होंने शुरू से ही आम आदमियों के मुश्किलों को सुनने की पहल की। जिसके कारण इन्हें आम लोगों के बीच में काफी लोकप्रियता मिलने लगी। मुग्धा अपने लाइफ में केवल एक मंत्र को फॉलो करती हैं कि “सत्य परेशान हो सकता है, पराजित नहीं”। इस कारण मुग्धा ने अब तक अपने काम से समझौता नहीं किया है। वह आज की युवतिओं के लिए साहस और दृढ इच्छाशक्ति का प्रतीक है।

8. बन्दना प्रेयसी

बन्दना 2003 बैच की बिहार कैडर की आईएएस अफसर हैं। ये अफसर जनता दल- युनाइटेड के विधायक अनंत सिंह के खाद्य गोदामों को सील करने के लिए काफी चर्चित रहीं। बन्दना ने अपनी बेबाकी और साहसपूर्ण रवैये से बिहार के कई जिलों में शांति स्थापित की है। उन्हें 2009 में सीवान जिले में शांतिपूर्ण ढंग से चुनाव कराने के लिए भी काफी सराहना मिली थी। बन्दना ने ना सिर्फ दबंगो का बिना डरे सामना किया बल्कि उनके खिलाफ सख्त एक्शन भी लिया।

9. ऋतू महेश्वरी

ऋतू 2003 बैच की आईएएस अफसर है जिन्हे कानपूर में  कानपुर में बढ़ती बिजली चोरी और बजिली विभाग को हो रहे निरंतर घाटे को रोकने के लिए जाना जाता है। इलेक्ट्रिसिटी सप्लाई कंपनी यानि केस्को में काम करने के दौरान उन्होंने बिजली चोरी से कंपनी को होने वाले नुकसान को रोकने के लिये कई कदम उठाये। पंजाब इंजीनियरिंग कॉलेज ग्रेजुएट रितु माहेश्वरी को 2011 में केस्को के प्रमुख अधिकारी के रूप में नियुक्त किया गया और जल्द ही उन्होंने कंपनी के एक-तिहाई ग्राहकों के यहां नये डिजिटल मीटर लगवाये, जिनमें बिजली चोरी करना मुश्किल था। ऋतू को एक साहसी और ईमानदार आईएएस अफसर के रूप में जाना जाता है और वह जिस भी जिले और विभाग में काम करती आई हैं वहां अपनी ईमानदारी से पॉजिटिव चेंज ले आई है। वह वर्तमान में नॉएडा अथॉरिटी की CEO हैं।  वह ट्विटर अकाउंट पर काफी एक्टिव है और युवा उन्हें काफी पसंद करते हैं।

10. विजया जाधव

आईएएस विजया जाधव गिरिडीह (झारखण्ड) में SDM के पद पर अक्टूबर 2017 से कार्यरत है। गिरिडीह भारत की 5 सबसे पिछड़े जिलों में से एक है जहाँ सैंड माफिया, अवैध खनन, अवैध पटाखा फैक्ट्री जैसे कई गैर-कानूनी काम होना एक आम बात है। ऐसे में विजया ने इन अवैध कारोबारों को काबू करने के लिए निरंतर छापेमारी की और बिना डरे खनन माफियाओ के खिलाफ सख्त कारवाई सुनिश्चित की। 2015 बैच की इन आईएएस अफसर से जब पूछा गया की झारखण्ड में काम करना कितना मुश्किल है तो उन्होंने ने बताया कि ” मैं इसे बेहतर प्रदर्शन करने के अवसर के रूप में देखती हूं। दरअसल, झारखंड, गुजरात या महाराष्ट्र की तरह विकसित राज्य नहीं है। इन राज्यों में एक प्रणाली और बुनियादी ढाँचा है, जिसकी यहाँ कमी है। इसलिए राज्य और झारखंड के निवासियों के लिए बहुत काम है। राज्य की प्रगति के लिए एक मजबूत व्यवस्था बनाने में अधिकारियों को महत्वपूर्ण भूमिका निभानी होगी।

ये सभी महिलाऐं भारत की हर युवती के लिए प्रेरणा का स्त्रोत है। ईमानदारी, साहस और आत्म-विश्वास रखे तो हर महिला अपने आप में सक्षम और सम्पूर्ण है।

महिला ही जननी है, ये पूरा ब्रह्माण्ड उन्ही जननियों पे टिका हुवा है , उन सभी महिलाओं को मेरा कोटि कोटि प्रणाम ।।
समझो तो दुनियां का हरेक महिला देवी समान होती है ( साहिन बाग की महिला मत समझ लेना )
माँ , बहन , बहु , बेटी , पत्नी यही सब तो हमारा इज्जत होता है , इनका हिफाजत मरते दम तक करो और उनको प्रोत्साहित करो न की उनको आगे बढ़ने से रोको ।।

आपलोग यदि और ज्यादा जानना चाहते हैं हमारे और हमारे ब्लॉग के बारे में तो हमे Social Media हैंडल्स पे फॉलो करना बिलकुल न भूलें, सारा लिंक दिया हुवा है Facebook Page , Instagram , Twitter .

धन्यवाद

India’s Top 10 Billionaires in 2021

0
India's Top 10 Billionaires in 2021
India's Top 10 Billionaires in 2021

मेरे इस ब्लॉग में आप सभी का बहुत बहुत स्वागत है,
इस ब्लॉग का नाम है top10th.in
इस ब्लॉग के माध्यम से मै आप सभी को दुनियाँ भर की अनसुनी और अद्भुत बातें को बताने वाला हूँ और मेरा हरेक आर्टिकल रैंकिंग रिलेटेड टॉपिक को कवर करेगा जिससे आप सभी का सामान्य ज्ञान के साथ साथ वर्तमान ज्ञान भी मजबूत होगा ।।
आशा करता हूँ की हमारा मेहनत आपको जरूर पसंद आएगा ।।

भारत के दस (१०) सबसे धनि व्यक्ति

10) लक्ष्मी मित्तल; $10.3 billion

लक्ष्मी निवास मित्तल (जन्म: 15 जून 1950) लंदन मे बसे भारतीय मूल के उद्योगपति है। उनका जन्म राजस्थान के चूरु जीले के शादूलपुर नामक स्थान मे हुआ है। ब्रिटेन के सबसे धनी एशियाई और विश्व के 10वें सबसे धनी व्यक्ति है। मित्तल एल एन एम नामक उद्योग समूह के मालिक हैं। उनके पिता का नाम मोहन लाल मित्तल था।लक्ष्मी संयुक्त परिवार में पैदा हुए थे और बाद में उनका परिवार कोलकाता चला गया। लक्ष्मी निवास मित्तल ने सन 1957 से 1964 तक श्री दौलतराम नोपानी विद्यालय से शिक्षा ग्रहण की।

India's Top 10 Billionaires in 2021
India’s Top 10 Billionaires in 2021


9) गोदरेज फैमिली; $11 billion

गोदरेज परिवार एक भारतीय गुजराती भाषी ज़ोरोरैस्ट्रियन पारसी परिवार है जो 1897 में अर्देशिर गोदरेज और उनके भाई पिरोजशा बुर्जोजी गोदरेज द्वारा स्थापित एक समूह गोदरेज समूह का प्रबंधन करता है और बड़े पैमाने पर रियल एस्टेट, उपभोक्ता उत्पादों, औद्योगिक इंजीनियरिंग, उपकरण, फर्नीचर, सुरक्षा और कृषि उत्पादों।गोदरेज परिवार में चेयरमैन आदि गोदरेज और उनके भाई नादिर के अलावा कजिन रिशद, जमशीद, स्मिता गोदरेज हैं. आदि के तीन संतान तान्या, निसाबा और पिरोजशा गोदरेज हैं. नादिर के भी तीन संतान हैं.
India’s Top 10 Billionaires in 2021

8) उदय कोटक; $11.3 billion

उदय कोटक एक भारतीय बैंकर, कार्यकारी महाप्रबंधक और कोटक महिंद्रा बैंक के प्रबंध निदेशक हैं। 22 मार्च 2003 को कोटक महिंद्रा फाइनेंस लिमिटेड भारतीय रिज़र्व बैंक के बैंकिंग लाइसेंस प्राप्त करने के लिए भारत के कॉर्पोरेट इतिहास में पहली कंपनी बन गई। उदय कोटक मूल रूप से पश्चिमी गुजरात के रहने वाले हैं। 1985 में उन्होंने इन्वेस्टमेंट कंपनी की शुरुआत की थी। इसके लिए उन्होंने 30 लाख रुपये का जुगाड़ अपने परिवार और दोस्तों से किया था। ब्लूमबर्ग के मुताबिक उदय कोटक विश्व के सबसे अमीर बैंकर हैं .

7) पालोनजी शापूरजी मिस्त्री; $11.4 billion

पालोनजी शापूरजी मिस्त्री (जन्म 1929) भारतीय मूल के एक आयरिश अरबपति, कंस्ट्रक्शन टाइकून और शापूरजी पालोनजी समूह के अध्यक्ष हैं तथा सबसे अमीर आयरिश व्यक्ति हैं। मिस्त्री परिवार और टाटा फैमिली के बीच रिश्तों की शुरुआत 1930 में हुई थी। कहा जाता है कि तब जेआरडी टाटा को स्टील फैक्ट्री बनाने के लिए पैसों की जरूरत थी। उस वक्त पालोनजी शापूरजी मिस्त्री ने ही उनकी मदद की थी और उन्हें दो करोड़ रुपए दिए थे। इसके बदले में जेआरडी ने उन्हें टाटा संस के 12.5% शेयर्स दिए थे।

6) साइरस पूनावाला; $11.5 billion

साइरस पूनावाला (जन्म 1941) एक भारतीय पारसी व्यवसायी हैं, जिन्हें “भारत का वैक्सीन किंग” के रूप में भी जाना जाता है। वे पूनावाला समूह के अध्यक्ष हैं, जिसमें सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया (भारतीय बायोटेक कंपनी है जो बाल चिकित्सा ठीके बनाती है) शामिल है। सीरम इंस्टीट्यूट 165 से अधिक देशों में टीके का निर्यात करता है और दुनिया के हर दूसरे बच्चे को सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया का टीका लगाया गया है। हुरून ग्लोबल रिच लिस्ट – 2019 ने डॉ॰ पूनावाला को 13 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ भारत में चौथे सबसे अमीर व्यक्ति और दुनिया में 100 वें स्थान पर रखा। 
India’s Top 10 Billionaires in 2021

5) हिंदुजा ब्रदर्स; $12.8 billion

हिंदुजा समूह के मालिक श्रीचंद हिंदुजा और उनके भाई गोपीचंद हिंदुजा हैं, जिन्हें हिंदुजा ब्रदर्स के नाम से जाना जाता है. इसकी स्थापना परमानंद दीपचंद हिंदुजा ने 1914 में की थी, जिसकी शुरुआत मुंबई, भारत में हुई. 1919 में इसका पहला अंतर्राष्ट्रीय परिचालन ईरान में शुरू किया गया.

4) राधाकिशन दमानी; $15.4 billion

शेयर बाजार के मंझे खिलाड़ी और एवेन्यू सुपरमार्ट्स के संस्थापक राधाकिशन दमानी देश के चौंथे सबसे धनी व्यक्ति बन गए हैं. डी मार्ट की परिचालक कंपनी एवेन्यू सुपरमार्ट्स के शेयरों ने इस साल अभी तक 31 फीसदी की छलांग लगाई है. इसने मार्केटकैप में 36,000 करोड़ रुपये जोड़े हैं

3) शिव नाडार; $20.4 billion

शिव नाडार भारत के प्रमुख उद्यमी एवं समाजसेवी हैं। वे एचसीएल टेक्नॉलोजीज के अध्यक्ष एवं प्रमुख रणनीति अधिकारी हैं। सन् २०१० में उनकी व्यक्तिगत सम्पत्ति $20.4 बिलियन अमेरिकी डालर के तुल्य है। उनको सन २००८ में भारत सरकार द्वारा उद्योग एवं व्यापार के क्षेत्र में पद्मभूषण से सम्मानित किया था।

2) गौतम अडानी; $25.2 billion

गौतम अडानी का जन्म 24 जून 1962 में हुआ था । एक भारतीय उद्यमी और स्वयं निर्मित अरबपति है जो अदानी समूह के अध्यक्ष हैं। अदानी समूह कोयला व्यापार, कोयला खनन, तेल एवं गैस खोज, बंदरगाहों, मल्टी मॉडल लॉजिस्टिक, बिजली उत्पादन एवं पारेषण और गैस वितरण में फैले कारोबार को सम्भालने वाला विश्व स्तर का एकीकृत बुनियादी ढ़ाँचा है।

1) मुकेश अम्बानी; US$88.7 billion

मुकेश अम्बानी

मुकेश धीरूभाई अंबानी (जन्म 19 अप्रैल 1957 को यमन में) एक भारतीय व्यवसायी हैं और इंडिया टाइम्स के अनुसार 31 मार्च 2020 तक उनकी सम्पत्ति लगभग US$88.7 billion है। वे रिलायंस इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष, प्रबंध निदेशक और कंपनी के सबसे बड़े शेयरधारक हैं। तथा उनकी कंपनी रिलायंस जियो भारत की सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनी है। तथा उनकी कंपनी रिलायंस जियो भारत की सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनी है। मुकेश और उनके छोटे भाई अनिल रिलायंस इंडस्ट्रीज के संस्थापक स्वर्गीय धीरू भाई अंबानी के पुत्र हैं। मुकेश इंडियन प्रीमियर लीग की टीम मुंबई इंडियंस के स्वामी भी हैं।

ये दस व्यक्ति भारत के सबसे धनि व्यक्ति में से आते हैं, इनका एक दिन का जो आमदनी हैं उतना हम पुरे साल में भी नहीं कमा पते हैं ।।
हमारे देश में धन का कमी नहीं है, बस उसका सही तरिके से उपयोग नहीं हो पा रहा है, गरीब और गरीब बन रहे हैं और आमिर और ज्यादा आमिर हो रहे हैं ।। अभी भी भारत में ऐसे बहुत राज्य हैं जहाँ का PER CAPITA INCOME इतना कम है की दूसरे देश वाले हमे गरीब देश समझते हैं ।।

हमें और सरकार को इस बात पे गौर करना चाहिए की जो राज्य का आय कम है तो वो कम क्यों है ,आपलोग इस बारे में क्या सोचते हैं ,आपका मूल्यवान बिचार कमेंट बॉक्स में जरुर लिखें ।।


आपलोग यदि और ज्यादा जानना चाहते हैं हमारे और हमारे ब्लॉग के बारे में तो हमे Social Media हैंडल्स पे फॉलो करना बिलकुल न भूलें, सारा लिंक दिया हुवा है Facebook Page , Instagram , Twitter .

धन्यवाद …..

Query Solved:

india top 10 youngest billionaires
,top 10 billionaires actors in india
,top 10 billionaire daughters in india
,india top 10 billionaires
,top 10 female billionaires in india
,top 10 billionaires in india
,top 10 billionaires in india wiki
,top 10 young billionaires in india
,top 10 youngest billionaires in india
,top 10 muslim billionaires in india
,top 10 self made billionaires in india
,top 10 billionaires of india,

Translate »